केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहां, सुरक्षा की दृष्टि से छोटी कारों में भी पर्याप्त संख्या में एयर बैग होने चाहिए। उन्होंने हैरानी जताई, वाहन कंपनियां केवल अमीर लोगों द्वारा खरीदी गई बड़ी कारों में ही आठ एयर बैग क्यों उपलब्ध करा रही है।

यह बयान ऐसे समय आया है जब ऑटो इंडस्ट्री ने इस बात को लेकर चिंता जताई है कि ज्यादा टैक्स और उत्सर्जन नियमों के चलते उनके उत्पाद महंगे हो गए हैं। अभी छोटी कारों में दो से तीन एयर बैग ही कंपनियां उपलब्ध कराती है।

गडकरी ने कहा कि ज्यादातर निम्न मध्यम वर्ग के लोग छोटी कारें खरीदते हैं और अगर उनकी कार में एयर बैग नहीं होंगे और जब दुर्घटनाएं होगी तो उनकी जान भी जा सकती है।

इसलिए मैं सभी कार निर्माताओं से वाहन के सभी वेरिएंट और सेगमेंट से कम से कम छह एयर बैग प्रदान करने की अपील करता हूं। हालांकि गडकरी ने यह भी स्वीकार किया कि छोटी कारों में अतिरिक्त एयर बैग से उनकी लागत कम से कम ₹3000 से ₹4000 बढ़ जाएगी

Airbag in car

गडकरी ने कहा, कि अमीर लोगों के लिए आप आठ एयर बैग देते हैं, लेकिन सस्ती कारों के लिए आप सिर्फ दो से तीन एयर बैग की पेशकश करते हैं, आखिर ऐसा क्यों।

Gadkari on Car's air bag

दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे से हर महीने मिलेगा डेढ़ हजार करोड़ का टोल

Small airbags in car

गडकरी ने कहा है कि दिल्ली – मुंबई एक्सप्रेसवे शुरू होने के बाद केंद्र को हर महीने 1000 से 1500 करोड़ रुपए का टोल रेवेन्यू मिलेगा। इस बहुप्रतीक्षित एक्सप्रेस-वे के 2023 में परिचालन के आने की उम्मीद है।