देश मे कोरोना के तीसरी लहर का खतरा मंडरा रहा है, बहुत से experts का मानना है कि यह सितंबर अक्टूबर के अंत तक देश मे प्रवेश कर सकती है.
इसके संबंध में केंद्र सरकार जिन राज्यों में कोरोना के केस बढ़ रहे है उनको lockdown करने की परमिशन दे दिया है।

देश में कोरोना की तीसरी लहर (third wave) दूसरी लहर (Second wave) जीतनी घातक नहीं होगी, नये वेरिएंट से संक्रमितों की संख्या तो बढ़ेंगी लेकिन दूसरी लहर जितने गंभीर केस नहीं होंगे।

यह बात भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद् ने प्रधानमंत्री व स्वास्थ्य मंत्रालय को भेजी रिपोर्ट में कही है, आईसीएमआर ने आशंका जताई है, कोविड प्रोटोकॉल की अनदेखी स्थिति बिगाड़ सकती है।

Covid third wave

विशेषज्ञों द्वारा तैयार रिपोर्ट चार बिंदुओं की समीक्षा के आधार पर तैयार की गयी है, टिकाकृत मरीजों में संक्रमण, ठीक हुए मरीजो में प्रतिरक्षा, लॉकडाउन व Covid Protocol पालन के दौरान संक्रमण की स्थिति

हम अपनी साइट के माध्यम से अपने रीडर्स को सावधानियां बरतने की हिदायत देते हैं।