अदाणी ग्रुप मुकेश अंबानी नियंत्रित रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) को टक्कर देने के लिए रिन्यूएबल एनर्जी के क्षेत्र में उतर रहा है।

Adani group in renewable energy

मंगलवार को अदाणी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अदाणी ने एक कार्यक्रम में 10 वर्षों में रिन्यूएबल एनर्जी के क्षेत्र में 20 अरब डॉलर (करीब 1.5 लाख करोड़ रुपए) के निवेश की घोषणा की।

उन्होंने कहा कि ग्रुप यह निवेश ग्रीन एनर्जी के उत्पादन, ट्रांसमिशन व वितरण के साथ कंपोनेंट्स निर्माण के क्षेत्र में करेगा। हाल ही में आरआईएल के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने अगले 3 वर्षों में ग्रीन एनर्जी व हाइड्रोजन के क्षेत्र में 10 अरब डॉलर (करीब 75000 करोड रुपए) के निवेश का ऐलान किया था

Renewable energy

जेपी मोर्गन के कार्यक्रम में अदाणी ने कहा कि स्थापित उत्पादन क्षमता, निर्माणाधीन परियोजनाओं के हिसाब से हम सौर ऊर्जा के क्षेत्र में दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है।

कंपनी में या काम सिर्फ 2 वर्षों में किया है। अदाणी ग्रुप के पास रिन्यूएबल एनर्जी से जुड़ी 4920 मेगावाट क्षमता की चालू परियोजनाएं हैं तो 5124 मेगावाट क्षमता की परियोजनाएं निर्माणाधीन है। वही, 9750 मेगा वाट की विभिन्न परियोजनाएं शुरू होने के चरण में हैं और 4500 मेगा वाट की परियोजनाओं का काम जल्द ही मिलने वाला है।

Adani on renewable energy

अदाणी ने बताया कि वर्ष 2025 तक उनकी योजनागत पूंजी खर्च का 75 फीसद ग्रीन टेक्नोलॉजी के मद में जाएगा। अगले 4 साल में कंपनी की रिन्यूएबल उत्पादन क्षमता में 3 गुना बढ़ोतरी होगी। कंपनी हाइड्रोजन एनर्जी के क्षेत्र में भी दुनिया के सबसे बड़े उत्पादकको में शामिल होने का लक्ष्य रख रही है।

ग्रुप वर्ष 2030 तक अपने सभी डाटा सेंटर को रिन्यूएबल एनर्जी के माध्यम से बिजली की आपूर्ति करेगा।